महानता, गिरकर उठ जाने में है।

अगर हर कोई अपनी एक विशिष्टता की तलाश करे। तो हमारे पास एक बहुत रंगीन दुनिया होगी। मधुर वाणी, मधुर रिश्ते के लिए उसी तरह रंग, दृष्टि के लिए सुगंध की तरह होते हैं। रंगों का सही मेल उन्नति में सहायक हो सकता है। -:सदगुरु:-